जब बुर्कों की जली थी होली और कत्ल कर दी गयी थीं औरतें

Posted on 02 Nov 2017 -by Watchdog

शमशाद इलाही शम्स


बीसवीं शताब्दी के दूसरे दशक में सोवियत संघ के मुखिया रहे कामरेड स्टालिन के नेतृत्व में बोल्शेविक पार्टी ने 1920 के मध्य एशियाई गणराज्यों में बुर्के के खिलाफ एक जन आन्दोलन चलाया था, जिसका नाम था हुजूम 'खुदजुम।'

बोल्शेविक पार्टी परदे या बुर्के को पितृसत्ता के दमन, अज्ञानता और पिछड़ेपन का एक रूप मानते थे। लेनिन की पत्नी और बोल्शेविक पार्टी की नेता क्रुप्स्काया और क्लारा जेटकिन जैसी मार्क्सवादी चिंतकों ने कम्युनिस्ट पार्टी की महिला इकाई में जो विचारधारात्मक बहसों को 'जिनोदेल' जैसे मंचो पर अंजाम दिया था, 'हुजूम' उन्हीं विचारों को ज़मीन पर उतारने का एक कार्यक्रम था।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च 1927 को जुलूस जब उज़्बेकिस्तान में पहुंचा, तब इस आन्दोलन में शिरकत करते हुए मुस्लिम महिलाओं ने उज़्बेकिस्तान के अंदिजान शहर सहित पूरे इलाके में सार्वजनिक रूप से अपने बुर्कों की होली जलाई थी। उन दिनों उज्बेकिस्तान में 10 साल की उम्र से ही लड़कियाँ सर से पैर तक बुर्के में बंद रहा करती थीं।

इस आन्दोलन की उस समय के समाज में दो तरह से प्रतिक्रियाएं हुईं।

बुर्का उतार चुकी कई महिलाओं के क़त्ल उनके रिश्तेदारों अथवा कट्टरपंथी मुसलमानों द्वारा कर दिए गए। दूसरे कुछ महिलायें बुर्का पहनती रहीं क्योंकि वे सोवियत विचारधारा के प्रति अपनी असहमति व्यक्त कर सकें।

शुरुआत में यह मुहीम छह महीने के लिए ही निर्धारित थी लेकिन यह मुहीम दूसरे विश्वयुद्ध तक जारी रही।

आजकल के कम्युनिस्टों को मैं जब बुर्के, पगड़ी, दाढ़ी, साड़ी, सिन्दूर, छठ, हज आदि जैसे पाखंडों के पक्ष में कहीं भी खड़ा देखता हूँ तब कामरेड स्टालिन से क्षमा मांग लेता हूँ।



Generic placeholder image


राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित पुलिस अधिकारी को आतंकियों के साथ पकड़ा गया
13 Jan 2020 - Watchdog

जेएनयू हिंसा फुटेज सुरक्षित रखने की याचिका पर हाईकोर्ट का वॉट्सऐप, गूगल, एप्पल, पुलिस को नोटिस
13 Jan 2020 - Watchdog

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष पर एफआईआर, हमलावर ‘संघी गुंडे’ घूम रहे हैं खुलेआम
07 Jan 2020 - Watchdog

‘जब CAA-NRC पर बात करने बीजेपी वाले घर आएं तो जरूर पूछिए ये सवाल’
23 Dec 2019 - Watchdog

भारत के संविधान के साथ अब तब का सबसे बड़ा धोखा है मोदी का नागरिकता कानून
21 Dec 2019 - Watchdog

नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन
19 Dec 2019 - Watchdog

नागरिकता क़ानून के विरोध की आग दिल्ली पहुंची, 3 बसों में लगाई आग
15 Dec 2019 - Watchdog

लोगों से पटी सड़कें ही दे सकती हैं सब कुछ खत्म न होने का भरोसा
14 Dec 2019 - Watchdog

नागरिकता कानून के खिलाफ मार्च कर रहे जामिया के छात्रों पर लाठीचार्ज
13 Dec 2019 - Watchdog

मोदी-शाह ने सावरकर-जिन्ना को जिता दिया गांधी हार गए
12 Dec 2019 - Watchdog

नागरिकता बिल देश के साथ गद्दारी है
12 Dec 2019 - Watchdog

नागरिकता बिल और कश्मीर पर संघी झूठ
11 Dec 2019 - Watchdog

विवादास्पद नागरिकता संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश
09 Dec 2019 - Watchdog

जेएनयू छात्रों के मार्च पर फिर बरसीं पुलिस की लाठियां, कई छात्र गंभीर रूप से घायल
09 Dec 2019 - Watchdog

कालापानी को लेकर भारत के नेपाल से बिगड़ते सम्बंध
07 Dec 2019 - Watchdog

संविधान विरोधी नागरिकता बिल देश को बांटने
05 Dec 2019 - Watchdog

हरीश रावत का " उपवास " गॉधीवाद का भी घोर अपमान है
05 Dec 2019 - Watchdog

सत्ता की बौखलाहट का शिकार हुए पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल?
27 Nov 2019 - Watchdog

सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों के लिए बड़ी जीत है
10 Nov 2019 - Watchdog

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला समझना मेरे लिए मुश्किल: सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज
10 Nov 2019 - Watchdog

पुनरावलोकन : हिंसक समय में गांधी
02 Oct 2019 - Watchdog

भारत में अगले दो दशक बहुत अशांत और खूनी होंगे, जस्टिस काटजू
02 Oct 2019 - Watchdog

आरबीआई गवर्नर ने भी कहा - मंदी गहरा रही है
22 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर में नेताओं की गिरफ़्तारी पर डीएमके व अन्य विपक्षी पार्टियों ने जंतर मंतर पर किया विरोध प्रदर्शन
22 Aug 2019 - Watchdog

गहराता आर्थिक संकट भारत में फासीवाद की ज़मीन तैयार कर रहा है
16 Aug 2019 - Watchdog

खुली जेल में तब्दील हो गयी है घाटी, कश्मीरियों ने कहा-संविधान की भी इज्जत नहीं बख्शी
16 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर की जनता के समर्थन में प्रदर्शन को रोकने के लिए लखनऊ में रिहाई मंच के कई नेता हाउस अरेस्ट
16 Aug 2019 - Watchdog

जम्मू-कश्मीर: दलित आरक्षण पर मोदी-शाह ने बोला सफ़ेद झूठ, सच्चाई जानकर आप दंग रह जाएंगे
12 Aug 2019 - Watchdog

अनुच्छेद 370 खात्मे के खिलाफ नेशनल कांफ्रेंस ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा
12 Aug 2019 - Watchdog

भारत अब किसी भी बड़े जनसंहार के लिए बिल्कुल तैयार है ?
11 Aug 2019 - Watchdog



जब बुर्कों की जली थी होली और कत्ल कर दी गयी थीं औरतें