30 मई को ईवीएम के खिलाफ राष्ट्रीय विरोध दिवस

Posted on 29 May 2019 -by Watchdog

नई दिल्ली। ईवीएम के खिलाफ आंदोलन शुरू हो गया है। कल यानी 30 मई को जब नरेंद्र मोदी दिल्ली में दोबारा पीएम पद की शपथ ले रहे होंगे उसी समय मुंबई में आजाद मैदान के पास इसके खिलाफ प्रदर्शन हो रहा होगा। “ईवीएम हटाओ, लोकतंत्र बचाओ” नारे के साथ होने वाले इस प्रदर्शन की अगुआई रिटायर्ड जस्टिस कोलसे पाटिल करेंगे। इसके अलावा तमाम सामाजिक कार्यकर्ता, बुद्धिजीवी और पत्रकार इसमें हिस्सा लेंगे। 

ईवीएम विरोधी राष्ट्रीय जन आंदोलन के बैनर तले शुरू हुए इस अभियान के लोगों का कहना है कि वो देश में कोई भी चुनाव बैलट पेपर से चाहते हैं। इस सिलसिले में इन लोगों ने एक पर्चा भी जारी किया है।

जिसमें कहा गया है कि हाल के लोकसभा के चुनाव नतीजों ने पूरे राष्ट्र को सकते में डाल दिया है। इनका कहना है कि उन्हें पहले ही इस बात का विश्वास था कि ईवीएम को हैक किया जा सकता है। अब मौजूदा नतीजों और उसमें आयी संभावना से ज्यादा सीटों ने इस बात को पुख्ता कर दिया है। पर्चे में कहा गया है कि महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों के संबंध में चुनाव आयोग की वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों पर अगर गौर फरमाएं तो उसमें डाले गए मतों और बाद में उनकी गिनती में भारी अंतर है। मध्य प्रदेश की 203 विधानसभा सीटों पर भी यही हाल है। उनका कहना है कि यही बात इसको साबित करने के लिए काफी है कि ईवीएम का मैनीपुलेशन हुआ है। और मौजूदा चुनाव नतीजों पर किसी भी रूप में विश्वास नहीं किया जा सकता है।

पर्चे में कहा गया है कि सोशल मीडिया पर भी पूरे देश से इस तरह की रिपोर्ट आयी हैं। मतगणना से ठीक पहले ईवीएम मशीनों का जिस तरह से इधर से उधर आना जाना शुरू हुआ था उसने भी चुनाव नतीजों की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा कर दिया है। पहले चरण से ही पूरा मीडिया यह कह रहा था कि एनडीए को कम से कम 140 सीटों का नुकसान होने जा रहा है। आबादी का 50 फीसदी हिस्सा जो कृषि पर निर्भर है वह पूरी तरह से हताश था और माना जा रहा था कि उसका गुस्सा चुनावों में सरकार के खिलाफ मतदान के जरिये निकलेगा। इसके अलावा जीएसटी से लेकर राफेल और नोटबंदी से लेकर तमाम ऐसे मुद्दे थे जिन पर सरकार घिरी हुई थी।पर्चे में कहा गया है कि चुनाव नतीजों के बाद पूरे देश में सन्नाटा पसरा हुआ था। कहीं से कोई जश्न का माहौल नहीं था। यह बताता है कि लोग बिल्कुल सदमे में थे और उन्हें नतीजों पर भरोसा ही नहीं हो रहा था। आंदोलनकारियों का कहना है कि उन्हें बीजेपी की जीत की कोई संभावना नहीं दिख रही थी। इसीलिए उन लोगों ने इसे ईवीएम सरकार की संज्ञा दी है।उनका कहना है कि पूरे चुनाव के दौरान चुनाव आयोग का रवैया बेहद गैरजिम्मेदाराना और संदेहास्पद रहा। और वह हर जगह सरकार के साथ खड़ा रहा। उनका कहना है कि सभी संस्थाओं की तरह मोदी ने चुनाव आयोग को भी चौपट कर दिया। 

लिहाजा उन सभी लोगों ने जनता की अदालत में जाने का फैसला लिया है। और उन्हें पूरी उम्मीद है कि जनता का उसे भरपूर समर्थन मिलेगा। उनका कहना है कि यहां ये बताना बेहद महत्वपूर्ण है कि ज्यादा से ज्यादा लोकतांत्रिक देशों ने ईवीएम मशीनों को खारिज कर दिया है वो अपने यहां मतदान बैलट पेपर पर कराते हैं। ऐसे में अगर कहा जाए कि ईवीएम देश के लोकतंत्र के लिए खतरा है तो कोई गलत बात नहीं होगी। लिहाजा लोकतंत्र को बचाने के लिए ईवीएम को हटाना हर नागरिक का अब प्राथमिक कर्तव्य हो गया है। इस सिलसिले में जब जस्टिस कोलसे पाटिल से जनचौक की बात हुई तो उनका कहना था कि उन्होंने ईवीएम के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत कर दी है। अब बारी जनता की है। हालांकि उनका कहना था कि लोगों की प्रतिक्रिया बहुत सकारात्मक है। उन्होंने कहा कि लोगों को अब बाहर आकर इसके खिलाफ अपने गुस्से को जाहिर करना चाहिए।

लिहाजा 30 मई को ईवीएम के खिलाफ राष्ट्रीय विरोध दिवस घोषित किया गया है। और उसमें उन्होंने सभी नागरिकों, सामाजिक आंदोलनों के कार्यकर्ताओं और उनके नेताओं के साथ-साथ राजनैतिक दलों को भी आमंत्रित किया है।

आंदोलन में जस्टिस पाटिल के अलावा, डॉ. सुरेश खैरनार, पत्रकार निरंजन टाकले, सामाजिक कार्यकर्ता शबनम हाशमी,रवि भिलाने, फिरोज मिथिबोरवाला,ज्योति बाडेकर,सलीम अलवारे, धनंजय शिंदे आदि शामिल हैं।



Generic placeholder image


सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों के लिए बड़ी जीत है
10 Nov 2019 - Watchdog

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला समझना मेरे लिए मुश्किल: सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज
10 Nov 2019 - Watchdog

पुनरावलोकन : हिंसक समय में गांधी
02 Oct 2019 - Watchdog

भारत में अगले दो दशक बहुत अशांत और खूनी होंगे, जस्टिस काटजू
02 Oct 2019 - Watchdog

आरबीआई गवर्नर ने भी कहा - मंदी गहरा रही है
22 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर में नेताओं की गिरफ़्तारी पर डीएमके व अन्य विपक्षी पार्टियों ने जंतर मंतर पर किया विरोध प्रदर्शन
22 Aug 2019 - Watchdog

गहराता आर्थिक संकट भारत में फासीवाद की ज़मीन तैयार कर रहा है
16 Aug 2019 - Watchdog

खुली जेल में तब्दील हो गयी है घाटी, कश्मीरियों ने कहा-संविधान की भी इज्जत नहीं बख्शी
16 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर की जनता के समर्थन में प्रदर्शन को रोकने के लिए लखनऊ में रिहाई मंच के कई नेता हाउस अरेस्ट
16 Aug 2019 - Watchdog

जम्मू-कश्मीर: दलित आरक्षण पर मोदी-शाह ने बोला सफ़ेद झूठ, सच्चाई जानकर आप दंग रह जाएंगे
12 Aug 2019 - Watchdog

अनुच्छेद 370 खात्मे के खिलाफ नेशनल कांफ्रेंस ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा
12 Aug 2019 - Watchdog

भारत अब किसी भी बड़े जनसंहार के लिए बिल्कुल तैयार है ?
11 Aug 2019 - Watchdog

अनुच्छेद-370 खात्मे के खिलाफ कश्मीरियों ने किया विरोध-प्रदर्शन, पैलेट गन फायरिंग में कई घायल
10 Aug 2019 - Watchdog

प्रणय और राधिका रॉय को विदेश जाने से रोका गया, एनडीटीवी ने कहा- मीडिया को डराने की कोशिश
10 Aug 2019 - Watchdog

भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने का आरएसएस का सपना पूरा होने वाला है
09 Aug 2019 - Watchdog

आर्टिकल 370 : सरकार के कदम का पूर्वोत्तर में क्यों विरोध हो रहा है ? ये गोदी मीडिया नहीं बताएगा
08 Aug 2019 - Watchdog

आंबेडकर को लेकर संघ फैला रहा है झूठ, अनुच्छेद 370 के खिलाफ नहीं थे बाबा साहेब
08 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर और इतिहास के साथ क्यों धोखाधड़ी है धारा 370 का खात्मा
06 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर और इतिहास के साथ क्यों धोखाधड़ी है धारा 370 का खात्मा
06 Aug 2019 - Watchdog

जम्मू कश्मीर में महबूबा, उमर सहित कई नेता गिरफ़्तार
06 Aug 2019 - Watchdog

ताले में बंद कश्मीर की कोई ख़बर नहीं, पर जश्न में डूबे शेष भारत को इससे मतलब नहीं
06 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर से धारा 370 खत्म, लद्दाख और जम्मू कश्मीर बने अलग-अलग केंद्रशासित प्रदेश
05 Aug 2019 - Watchdog

कश्मीर को भारत में मिलाने का नहीं, बल्कि उससे अलग करने का है यह निर्णय
05 Aug 2019 - Watchdog

मजदूरी करती रहें महिलायें इसलिए निकाल दिया तकरीबन 5 हजार का गर्भाशय
20 Jun 2019 - Watchdog

नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाने वाले पूर्व IPS संजीव भट्ट को तीस साल पुराने मामले में उम्रकैद
20 Jun 2019 - Watchdog

मोदी सरकार ने चुपके से बदली पर्यावरण नीति
12 Jun 2019 - Watchdog

पत्रकार का आरोप- रेलवे के पुलिसकर्मियों ने मेरे मुंह में पेशाब की
12 Jun 2019 - Watchdog

सख्त हुआ ये राज्य, रेप करने वालों को लगेंगे नपुंसक बनाने के इंजेक्शन
12 Jun 2019 - Watchdog

आंकड़ों की इस धोखेबाज़ी की बाकायदा जांच होनी चाहिए
11 Jun 2019 - Watchdog

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत का निधन
06 Jun 2019 - Watchdog



30 मई को ईवीएम के खिलाफ राष्ट्रीय विरोध दिवस